Friday, November 27, 2020

नगरोटा मुठभेड़: सांबा में जैश आतंकियों द्वारा घुसपैठ में इस्तेमाल संदिग्ध सुरंग का पता चला- DGP

कश्मीर के नगरोटा में सुरक्षा बलों ने सीमा पार से आए चार आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया था. (फोटो: ANI/Twitter)

Nagrota Encounter: नगरोटा में सफल अभियान के बाद सवाल ये था कि जैश आतंकवादी (Terrorist) पाकिस्तान (Pakistan) से भारत की सीमा में दाखिल कैसे हुए, राष्ट्रीय राजमार्ग कैसे पहुंचे और श्रीनगर जाने वाले ट्रक में कैसे बैठे?’

जम्मू. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के सांबा सेक्टर (Samba Sector)  में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रविवार को बीएसएफ (BSF) ने 150 मीटर लंबी भूमिगत सुरंग का पता लगाया है. ऐसा संदेह है कि इसका इस्तेमाल जैश के चार आतंकवादियों द्वारा पाकिस्तान से भारत में घुसपैठ के लिये किया गया. पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने यह जानकारी दी. सिंह ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिरीक्षक, जम्मू सीमांत, एन एस जमवाल और पुलिस महानिरीक्षक, जम्मू क्षेत्र, मुकेश सिंह के साथ रीगल चौकी के निकट मौके का निरीक्षण किया. उन्होंने कहा कि जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के पास हाल ही में मुठभेड़ की जांच के बाद सुरंग का पता लगा है.

राजमार्ग पर बान टोल प्लाजा के निकट गुरुवार को जांच के लिये एक ट्रक को रोका गया. उसमें चार पाकिस्तानी आतंकवादी छिपे थे. इसके बाद हुई मुठभेड़ में चारों आतंकवादी मारे गए. पुलिस ने कहा कि इन आतंकवादियों के पास से 11 एके सीरीज की राइफलें, तीन पिस्तौल, 29 हथगोले, छह यूबीजीएल ग्रेनेड बरामद हुए थे. उन्होंने कहा कि ये आतंकवादी जिला विकास परिषद चुनावों को बाधित करने के मकसद से भारत में आए थे. पुलिस महानिदेशक ने पत्रकारों को बताया, ‘पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से मिली कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को बीएसएफ के साथ साझा किया था, जिसने काफी प्रयासों के बाद सुरंग का पता लगा लिया.’

पाकिस्‍तान से कड़ा विरोध दर्ज कराएगा भारत
जामवाल ने सुरंग का पता लगाने के अभियान को ‘बड़ी सफलता’ करार देते हुए कहा कि पाकिस्तान से इसे लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया जाएगा. उन्होंने इस सुरंग का पता लगाने का पूरा श्रेय बल के कर्मियों की प्रतिबद्धता, समर्पण और प्रेरणा को दिया. बीएसएफ के आईजी ने कहा, ‘2.5 मीटर चौड़ी और 25-30 मीटर गहरी इस सुरंग का निर्माण समुचित आभियांत्रिकी प्रयासों से किया गया, जिससे यह सुनिश्चित हो कि इसका पता आसानी से न चले. सुरंग के मुहाने पर सरकंडे लगाए गए थे.’ये भी पढ़ें: बाज नहीं आ रहा पाक: J&K में फिर किया सीजफायर उल्लंघन, इस बार गांवों और चौकियों को बनाया निशाना

ये भी पढ़ें: चीन से तनाव के बीच लद्दाख में भारतीय सेना की सुरक्षा करेंगी सुरंगें, सर्दी से भी करेंगी बचाव

उन्होंने पुलिस और खुफिया एजेंसियों से मिलने वाली नियमित जानकारियों और सहयोग की भी सराहना की, जिसकी वजह से सुरंग का पता जल्द चल सका. बीते तीन महीनों के दौरान बीएसएफ ने सांबा में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दूसरी सुरंग का पता लगाया है. इससे पहले सीमा सुरक्षा बल को गालर इलाके में सीमा पर लगे बाड़ के पास सुरंग का पता चला था. डीजीपी ने कहा, ‘बीएसएफ द्वारा पहली सुरंग का पर्दाफाश किये जाने के बाद यह पाकिस्तान की तरफ से खोदी गई दूसरी सुरंग है. नगरोटा में सफल अभियान के बाद सवाल ये था कि जैश आतंकवादी पाकिस्तान से भारत की सीमा में दाखिल कैसे हुए, राष्ट्रीय राजमार्ग कैसे पहुंचे और श्रीनगर जाने वाले ट्रक में कैसे बैठे?’

Most Popular

Corona: दिल्‍ली में 12 दिन बाद मौतों का आंकड़ा सबसे कम, सामने आए इतने नए मरीज

नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) में एक दिन में COVID-19 के 5,475 नये मामले सामने आए, वहीं 91 और लोगों की कोरोना संक्रमण (Corona Virus)...

UP: कांग्रेस कार्यालय से करते थे बिजली चोरी, पार्टी ने काटा कनेक्शन तो दफ्तर पर ताला लगा आए अवैध कब्जेदार

लखनऊउत्तर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय प्रशासन द्वारा अपने घरों की बिजली काटे जाने से नाराज लोगों ने गुरुवार को दफ्तर के मुख्य द्वार पर कुछ...

टाईटल वॉर: करन जौहर ने मांगी माफी लेकिन नहीं बदलेंगे टाईटल, मधुर भंडारकर बोले- माफी स्वीकार मगर मेरी उम्मीद कुछ और थी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपएक घंटा पहलेकॉपी लिंकमुधर भंडारकर और करन जौहर, फोटो- गैटी इमेज...