Friday, November 27, 2020

न्यू कोर्सेस: एनआरटीआई ने लॉन्च किए यूजी और पीजी के 7 खास कोर्सेस, यूनिक कोर्सेस की तलाश है तो इन्हें कर सकते हैं एक्सप्लोर

  • Hindi News
  • Career
  • NRTI Has Launched New UG And PG Special Courses, If You Are Looking For Unique Courses Then You Can Explore Them

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

भारतीय रेलवे के नेशनल रेल एंड ट्रांसपोर्टेशन इंस्टीट्यूट, वडोदरा ने हाल ही में 7 नए एकेडमिक प्रोग्राम लॉन्च किए हैं। इनमें दो बीटेक यूजी प्रोग्राम, दो एमबीए प्रोग्राम्स और तीन एमएससी प्रोग्राम शामिल है। रेलवे मिनिस्ट्री के अनुसार यह सभी कोर्स से इंटरडिसीप्लिनरी होने के साथ ही एप्लीकेशन ओरिएंटेड है। यह कोर्स इस देश के किसी दूसरे इंस्टिट्यूट में ऑफर नहीं किए जाते, इसलिए अपने कंटेंट में यूनिक है। अगर आप भी नए कोर्स की तलाश में है, तो जानिए यह कोर्स कौन से हैं और इनमें क्या पढ़ाया जाएगा।

बीबीए इन ट्रांसपोर्टेशन मैनेजमेंट

3 साल का यह कोर्स ट्रांसपोर्टेशन सेक्टर में मैनेजमेंट प्रैक्टिसेज पर फोकस करता है। कोर्स में ट्रांसपोर्टेशन के प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, सप्लाय चेन मैनेजमेंट, अर्बन प्लानिंग और फाइनेंशियल मॉडल्स पर फोकस किया गया है। इसके अलावा यहां बीएससी इन ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजी भी किया जा सकता है। 3 साल के कोर्स में इस फील्ड की टेक्नोलॉजी और उनके उपयोग पर फोकस होगा। इसमें 21वीं सदी की ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजी, अर्बन ट्रैफिक मैनेजमेंट एंड कंट्रोल, हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल थ्योरी और डिजाइन जैसे सब्जेक्ट होंगे।

एमबीए इन सप्लाय चेन मैनेजमेंट

इस कोर्स में सप्लाय चेन के विभिन्न लेवल्स पर इंटीग्रेशन डिजाइन, कोआर्डिनेशन के लिए मैनेजरियल और एनालिटिकल स्किल्स को मजबूत बनाया जाएगा। यह कोर्स 2 साल का है। पीजी में ही एमएससी इन रेलवे सिस्टम इंजीनियरिंग एंड इंटीग्रेशन कोर्स भी है। यह 2 साल का एक इंटरनेशनल डिग्री प्रोग्राम है। प्रोग्राम के सेकंड ईयर में स्टूडेंट्स को यूके की यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम में पढ़ने का मौका मिलेगा।

बीटेक इन रियल सिस्टम्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग

यह कोर्स कंप्यूटर नेटवर्किंग एंड मैनेजमेंट, पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम, रेलवे कंट्रोल सिस्टम इंजी., मोबाइल कम्युनिकेशन, बिग डेटा एंड डेटा एनालिसिस, एआई और मशीन लर्निंग जैसे सब्जेक्ट पर फोकस करेगा। इन कोर्सेस की अवधि 4 साल की होगी।

एमएससी इन ट्रांसपोर्ट टेक्नोलॉजी एंड पॉलिसी

2 साल की अवधि का यह मास्टर्स प्रोग्राम ट्रांसपोर्ट टेक्नोलॉजी के इंटीग्रेशन में आने वाली चुनौतियों के साथ ही ट्रांसपोर्टेशन फाइनेंस, अर्बन प्लानिंग मॉडल, पॉलिसी इन ट्रांसपोर्ट प्लानिंग, मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्टेशन जैसे सब्जेक्ट कवर करता है।

Most Popular

एस्ट्राजेनेका के गलती स्वीकारने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा, ‘ऑक्सफोर्ड कोविड वैक्सीन सुरक्षित है’

प्रतीकात्मक तस्वीरनई दिल्ली: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने गुरुवार को कहा कि एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित COVID-19 वैक्सीन सुरक्षित और प्रभावी है...

सीलिंग मामला : सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील रंजीत कुमार को न्याय मित्र की जिम्मेदारी से किया मुक्त

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!ख़बर सुनेंख़बर सुनेंउच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार...